100+ आज का सुविचार हिंदी में 2021, हिंदी सुविचार, सर्वश्रेष्ठ सुविचार

 आज का सुविचार हिंदी में 2021:- नमस्कार दोस्तों आपका स्वागत हैं www.anilganvit.in के नए Status और हिंदी Shayari Collection में. फ्रेंड्स इस पोस्ट में हम  सुविचार  का नया कलेक्शन लाये हैं, अगर आप इंटरनेट पर आज का सुविचार हिंदी में 2021, हिंदी सुविचार, सर्वश्रेष्ठ सुविचार  या फिर सुविचार हिंदी,सुप्रभात सुविचार,आज का सुविचार,खूबसूरत सुविचार,भावनात्मक सुविचार गूगल पर खोज रहें हो | दोस्त आज में कुछ इसी तरह के कीवर्ड से रेलेटेड आज का सुविचार हिंदी में लाया हूँ | आसा करता हु की यह हमारा हिंदी सुविचार का सबसे अच्छा कलेक्शन पसंद आये |

आज का शुभ प्रभात सुविचार


अध्ययन हमें आनन्द तो प्रदान करता ही है, अलंकृत भी करता है और योग्य भी बनाता है.
प्रकृति की अपेक्षा अध्ययन के द्वारा अधिक मनुष्य महान बने हैं |

भविष्य का अनुमान लगाने के लिए अतीत का अध्ययन करो |

पढने से सस्ता कोई मनोरंजन नहीं ; न ही कोई खुशी , उतनी स्थायी ।

आज का सुविचार हिंदी में लिखा हुआ

जब दूसरे व्यक्ति सोए हों, तो उस समय अध्ययन करें; उस समय कार्य करें जब दूसरे व्यक्ति अपने समय को नष्ट करते हैं; उस समय तैयारी करें जब दूसरे खेल रहे हों; और उस समय सपने देखें जब दूसरे केवल कामना ही कर रहे हों।

मस्तिष्क के लिये अध्ययन की उतनी ही आवश्यकता है जितनी शरीर के लिये व्यायाम की ।


इतिहास के अध्ययन से मनुष्य बुद्धिमान बनता है |

चरित्रहीन शिक्षा, मानवताविहीन विज्ञान ओर नैतिकताविहीन व्यापार खतरनाक होते हैं |

अध्ययन से सरल कोई मनोरंजन नहीं, न कोई आनन्द इतना चिरस्थायी है |
आज-का-सुविचार-हिंदी-में

सरस्वती से बढ़कर कोई वैध नहीं और उसकी साधना से बढ़कर कोई औषध नहीं |

वस्तुएं बल से छीनी या धन से खरीदी जा सकती हैं, किंतु ज्ञान केवल अध्ययन से ही प्राप्त हो सकता है |

 जितना अध्ययन करते हैं, उतना ही हमें अपने अज्ञान का आभास होता जाता है |

अनुशासन ही उद्देश्य और उपलब्धि के बीच का सेतु है.

शुभ प्रभात सुविचार इन हिंदी

हम सभी को दो चीजें बर्दाश्त करनी पड़ती हैं: अनुशासन का कष्ट या पछतावे और  मायूसी की पीड़ा.

 प्राथमिकताओं को समझना ही वास्तविक नेतृत्व है और उसका अनुकरण करना अर्थात  अनुशासन ही वास्तविक प्रबन्धन है.

बिना अनुशासन के दृढ़ वचन, भ्रांति का आरम्भ है.

कुछ महवपूर्ण अवसरों पर हम क्या करते हैं वो संभवतः इसी बात पर निर्भर करता है कि

हम क्या हैं: और हम जो हैं वो पिछले सालों के आत्म अनुशासन का परिणाम है.

अपने मष्तिष्क को नियंत्रित कीजिये नहीं तो आपका मष्तिष्क आपको नियंत्रित करने  लगेगा.

अनुशासन वो निर्मल अग्नि है जिससे प्रतिभा क्षमता में परिवर्तित हो जाती है.

एक अनुशासित जीवन जीना और उस अनुशासन के परिणाम को इश्वर की इच्छा मानकर स्वीकार करना ही किसी के पुरुष होने का संकेत देती है.

आत्म अनुशासन स्वतंत्र मनुष्य की गुलामी है.

अनुशासन की कमी कुंठा और आत्म-घृणा की तरफ ले जाती है.

कुछ लोग अनुशासन को उबाऊ काम समझते हैं. मेरे लिए , ये एक तरह की सुव्यवस्था है जो मुझे उड़ने के लिए तैयार करती है.

आज का सुविचार गुड मॉर्निंग

अगर आप अपने आपको, अपने मष्तिष्क को आत्मनिर्भर बनाने के लिए अनुशासित कर लेंगे तो फलस्वरूप आप बाहरी संसार के आघातों से न्यूनतम प्रभावित होंगे.

जो व्यक्ति बिना अनुशासन के जीता है, वो बिना सम्मान के मरता है.

जो बोला जा सकता है उसे न कहना ही अनुशासन और किफायत का रहस्य है.

 आप अभी क्या चाहते हैं और आप सबसे ज्यादा क्या चाहते हैं केवल इन दोनों में चुनाव ही अनुशासन है.

प्रत्येक अनुशासित कोशिश के लिए अनेकों पारितोषिक हैं.

जीवन की अधिकतर परिस्थितियाँ तीन मूलभूत चुनावों से उत्पन्न होती हैं: आप कैसा  अनुशासन चुनकर निभा पाते हैं, आप साथ रहने के लिए कैसे लोगों का चुनाव करते हैं और आप पालन करने के लिए कैसे नियमों को चुनते हैं.

स्वयम को अनुशासित कीजिये और आपको दूसरों को अनुशासित करने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

अनुशासन और अभ्यास से ही आत्मविश्वास पैदा होता है.

धन या बल या सामाजिक प्रतिष्ठा से सफलता का आंकलन नहीं किया जाता.बल्कि  अनुशासन और आपकी आन्तरिक शांति से ही आपकी सफलता आंकी जाती है.

अपनी इच्छाओं पर अनुशासन ही आपके चरित्र का आधार है.

शिक्षाप्रद सुविचार

अगर हम अपने आप को अनुशासित नहीं करेंगे तो हमारा ये काम दुनिया करेगी.

स्वतंत्रता ढूंढिए और अपनी इच्छाओं के कैदी बन जाईये. अनुशासन ढूंढिए और अपनी स्वतंत्रता पाईये.

 इस बात पर ध्यान दिए बिना कि कोई हमें देख रहा है या नहीं, किसी काम को सही ढंग से करना मात्र ही अनुशासन है.

किसी बात को लिख कर रखने का अनुशासन उस बात को कर दिखाने की तरफ पहला  सोपान है.

जिस कार्य को आप न चाहते हुए भी करते हैं, क्यूंकि आप जानते हैं कि वो होना चाहिए, ही अनुशासन है.

अनुशासन का पालन करना कड़वा होता है, लेकिन अनुशासन का पालन करने के बाद मिलने वाला फल बहुत मीठा होता है.

अनुशासन हमारे चरित्र और व्यक्तित्व के निर्माण में सबसे अहम भूमिका निभाता है.

अनुशासन के बिना दुनिया अस्तव्यस्त हो जाएगी. उदाहरण : एक बड़ा काम निश्चित समय से होता है.

अनुशासन वह डोर है, जो हमें सफलता की ऊँचाइयों को छूने में मदद करती है. जैसे डोर के बिना पतंग नीचे गिर जाती है, वैसे हीं अनुशासन के बिना हम असफल हो जाते हैं.

अनुशासन का कोई विकल्प नहीं होता है.

गरीब लोग दूसरों के अनुशासन की वजह से सोचने से वंचित रह जाते हैं और अमीर अपने अनुशासन की वजह से.

 अनुशासन की सराहना करना एक बात है और अनुशासन के लिए समर्पित होना एक  अलग बात है.

 जब आप काम करते हैं, तब सिर्फ काम करें. जब आप खेलते है, तब सिर्फ खेलें – ये ही  दमनकारी स्व-अनुशासन का बुनियादी नियम है.

अगर मैं महान बनना चाहता हूँ तो पहले मुझे अपने आप पर विजय पानी होगी...और  इसे ही स्व अनुशासन कहते हैं.

सर्वश्रेष्ठ सुविचार हिंदी में

बाहरी दबावों में नहीं, बल्कि उन मानसिक आदतों को जो कि स्वाभाविक रूप से  अवांछनीय गतिविधियों के बजाय वांछनीय रूप से हो, ही अनुशासन है.

आत्म-सम्मान अनुशासन का फल है; अपने आप को मना कर पाने की सामर्थ्य के साथ ही गरिमा की समझ पैदा होती है.

अनुशासन किसी बच्चे के जोश को तोड़ कर आधा नहीं करता लेकिन इसकी कमी कम से कम माता-पिता के ह्रदय को तोड़ कर आधा कर देती है.

सैनिकों को उनके दुश्मनों से ज्यादा उनके अधिकारीयों से डर होना ही अनुशासन की कला है.

बिना अनुशासन के प्रतिभा ऐसी है जैसे पहियेदार स्केट पर ऑक्टोपस.जिसमे कि बहुत सारी गतिविधि होंगी लेकिन आप ये नहीं जान पाएंगे की वो आगे जा रहा है,पीछे जा रहा है या फिर किनारे जा रहा है. 

आपकी अच्छाई आपके मार्ग में बाधक है, इसलिए अपनी आँखों को क्रोध से लाल होने दीजिये, और अन्याय का मजबूत हाथों से सामना कीजिये”

अन्याय में सहयोग देना, अन्याय करने के ही समान ह

“याद रखिये सबसे बड़ा अपराध अन्याय सहना और गलत के साथ समझौता करना है”

“अन्याय का राज्य बालू की भीत है”

“अन्याय की नींव पर स्थापित राज्य कभी नहीं टिकता”

“केवल न्याय में ही वास्तविक सुख है, अन्याय करने वाले को कभी न कभी दु:खी होना पड़ता है”

“अन्याय को मिटाइए, पर अपने को मिटाकर नहीं”

“सहनशील होना अच्छी बात है, परन्तु अन्याय का विरोध करना उससे भी उत्तम है”

“न्याय में विलम्ब अन्याय है”

समय पर सर्वश्रेष्ठ सुविचार

“अन्याय के सामने जो छाती खोलकर खड़ा हो जाए,वही सच्चा वीर है”

“जो अन्याय करने वाले है उनकी ओर न झुको”

“अन्याय, असत्य और कपट की बुनियाद पर स्थायी शक्ति प्राप्त करना असंभव है”

“अन्याय करने वाला उतना दोषी नहीं है, जितना उसे सहन करने वाला”

अन्याय में सहयोग देना, अन्याय के ही समान है।

अपमान करने पर भी जो आशीर्वाद दें, वे हैं सिर्फ ‘ज्ञानीपुरुष’।

नियम ऐसा ही है कि जब अपमान का भय नहीं रहेगा, तब कोई अपमान नहीं करेगा। जब तक भय है तब तक व्यापार है, भय गया कि व्यापार बंद।

 धर्म तो उसे कहते हैं कि जो धर्म होकर परिणमित हो। धर्म होकर परिणमित होना किसे कहते हैं? सामनेवाला गाली दे उस समय धर्म मदद करे। हमें ज़रा सा भी कुछ नहीं होने दे।

 ‘मेरा-तेरा’ वह तो व्यवहार है। सामनेवाला गाली दे ऐसा व्यवहार पसंद हो, तो आप वैसा व्यवहार करना। लेनदेन जारी रखो।

इन्हे भी पढ़ें  :

Prernadayak shayari

सर्वश्रेष्ठ सुविचार हिन्दी में

सबसे अच्छे अनमोल वचन

शिक्षा पर अनमोल विचार 

Best Motivational quotes with positive सुप्रभात सुविचार | 

सफलता पर अनमोल विचार | Success Quotes in Hindi


धूल भी पैरों से रौंदी जाने पर ऊपर उठती है, तब जो मनुष्य अपमान को सहकर भी स्वस्थ रहे, उससे तो वह पैरों की धूल ही अच्छी।

 इतिहास इस बात का साक्षी है कि किसी भी व्यक्ति को केवल उसकी उपलब्धियों के लिए सम्मानित नहीं किया जाता। समाज तो उसी का सम्मान करता है, जिससे उसे कुछ प्राप्त होता है।

 किसीने गाली दी तो क्या वह अव्यवहार है? व्यवहार है। ‘ज्ञानी’ तो, अगर कोई गाली दे तब खुद खुश हो जाते हैं कि बंधन से मुक्त हुए, जबकि अज्ञानी धक्के लगाए।

अपमानपूर्वक अमृत पीने से तो अच्छा है सम्मानपूर्वक विषपान |

अपमान और दवा की गोलियां निगल जाने के लिए होती हैं, मुंह में रखकर चूसते रहने के लिए नहीं।

 गाली सह लेने के असली मायने है गाली देनेवाले के वश में न होना, गाली देनेवाले को असफल बना देना। यह नहीं कि जैसा वह कहे, वैसा कहना।

एक श्रेष्ठ व्यक्ति कथनी में कम ,करनी में ज्यादा होता है.

हर एक चीज में खूबसूरती होती है, लेकिन हर कोई उसे नहीं देख पाता.

अनुशासन पर सुविचार 

मैं सुनता हूँ और भूल जाता हूँ , मैं देखता हूँ और याद रखता हूँ, मैं करता हूँ और समझ जाता हूँ.

सफलता पहले से की गयी तयारी पर निर्भर है,और बिना ऐसी तयारी के असफलता निश्चित है.

महानता कभी ना गिरने में नहीं है, बल्कि हर बार गिरकर उठ जाने में है.

यह बात मायने नहीं रखती की आप कितना धीमे चल रहे हैं, जब तक की आप रुकें नहीं.

उस काम का चयन कीजिये जिसे आप पसंद करते हों, फिर आप पूरी ज़िन्दगी एक दिन भी काम नहीं करंगे.

एक लीडर आशा का व्यापारी होता है.

अवसर के बिना काबिलियत कुछ भी नहीं है.

जिसे जीत लिए जाने का भय होता है उसकी हार निश्चित होती है.

शिक्षा सबसे शशक्त हथियार है जिससे दुनिया को बदला जा सकता है.

सिर्फ तर्क करने वाला दिमाग एक ऐसे चाक़ू की तरह है जिसमे सिर्फ ब्लेड है. यह इसका प्रयोग करने वाले के हाथ से खून निकाल देता है.

प्रसन्नता पहले से निर्मित कोई चीज नहीं है..ये आप ही के कर्मों से आती है.

अपनी क्षमताओं को जान कर और उनमे यकीन करके ही हम एक बेहतर विश्व का नित्मान कर सकते है

बड़ा सोचो , जल्दी सोअचो , आगे सोचो . विचारों पर किसी का एकाधिकार नहीं है .

महान सपने देखने वालों के महान सपने हमेशा पूरे होते हैं.

अगर आप चाहते हैं कि कोई चीज अच्छे से हो तो उसे खुद कीजिये.

सफलता एक घटिया शिक्षक है . यह लोगों में यह सोच विकसित कर देता है कि वो असफल नहीं हो सकते

अज्ञानी होना उतनी शर्म की बात नहीं है जितना कि सीखने की इच्छा ना रखना.

तैयारी करने में फेल होने का अर्थ है फेल होने के लिए तैयारी करना.
Close Menu